नागालैंड सरकार ने कोरोना के मामलों में वृद्धि के बीच 14 मई से सात दिनों के लिए राज्य में लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। राज्य सरकार के प्रवक्ता और मंत्री नीबा क्रोनू ने कहा कि 14 मई से 21 मई तक एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया है। उन्होंने मंगलवार को मुख्यमंत्री नफीउ रियो की अध्यक्षता में आयोजित एचपीसी की बैठक के दौरान यह निर्णय लिया गया।

एचपीसी ने फैसला किया कि सप्ताह भर चलने वाले लॉकडाउन को कोविड-19 ट्रांसमिशन चेन को तोड़ने के लिए लागू किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि यह प्रतिबंध तब तक जारी रहेगा, जब तक कि नए एसओपी जारी ना किए जाएं। हालांकि, क्रोनू ने कहा कि कृषि से संबंधित गतिविधियों सहित आवश्यक सेवाओं को लॉकडाउन के दौरान दायरे से छूट दी जाएगी। नागालैंड सरकार ने 3 मई को राजधानी कोहिमा और दीमापुर के कुछ इलाकों में 5 मई की शाम 7 बजे से सात दिनों के लिए लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है।

इससे पहले कोरोना संक्रमण को देखते हुए नागालैंड के दीमापुर जिले में 23 अप्रैल को रात 8 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू की घोषणा की गई थी। एक आदेश के मुताबिक, हर रात 7 बजे से सभी दुकानों, व्यापारिक प्रतिष्ठानों और रेस्टोरेंट को बंद करने की भी घोषणा की गई। 19 अप्रैल को नागालैंड गृह विभाग के निर्देशानुसार और 16 अप्रैल को मुख्य सचिव कार्यालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार दीमापुर में डिप्टी कमिश्नर कार्यालय में आयोजित जिला टास्क फोर्स की बैठक में यह फैसला लिया गया था।