भारतीय जनता पार्टी ने पूर्वोत्तर के तीन राज्यों (असम, नागालैंड और त्रिपुरा) में होने वाले राज्यसभा चुनावों की सभी चार सीटें जीतने का दावा किया है। भाजपा ने दावा किया है कि तीनों राज्यों की विधानसभा में उनके सहयोगियों के दम पर वह सभी सीटें जीतेगी। 

ये भी पढ़ेंः नाबालिग ने चुराया था बिस्कुट, गुस्साए पुलिस वाले ने दी ऐसी सजा, अब हुआ निलंबित, देखें VIDEO


बता दें कि इस वक्त असम की दो सीटों पर कांग्रेसी उम्मीदवार रिपुर बोरा और रानी नारा काबिज हैं। त्रिपुरा में एक सीट माकपा के झरना दास (बैद्य) और नागालैंड में एकमात्र सीट पर नागा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) के  के.जी केनी हैं। असम में सत्तारूढ़ भाजपा ने एक राज्यसभा सीट के लिए पबित्रा मार्गेरिटा को अपना उम्मीदवार बनाया है, जबकि उसकी सहयोगी यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) ने दूसरी सीट के लिए रवंगवारा नारजारी को मैदान में उतारा है।

ये भी पढ़ेंः रोज चबाएं ये पत्तियां, तुरंत छूमंतर हो जाएगा शुगर और डायबिटीज


नरजारी यूपीपीएल के अध्यक्ष हैं और पश्चिमी असम में उनका एक मजबूत राजनीतिक आधार है, जिसमें चार जिले शामिल हैं - चिरांग, बक्सा, उदलगुरी और कोकराझार, जो भूटान और पश्चिम बंगाल की सीमा से लगे हैं। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने मौजूदा राज्यसभा सदस्य और पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा को नामित किया है। कांग्रेस और ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ)  राज्यसभा चुनावों के दौरान फिर से हाथ मिला लिया है। 

कांग्रेस को एक सीट पर जीतने के लिए 126 सदस्यीय सदन में 42 विधायकों की आवश्यकता है और पार्टी ने दावा किया कि उसके पास अपने 27 सदस्यों और एआईयूडीएफ के 15 सहित 44 विधायकों का समर्थन है। दो विधायक शर्मन अली अहमद और शशिकांत दास अभी निलंबित हैं।