भारत में ऐसी कुछ जगह हैं, जहां अजीबो गरीब व्यंजन बनाए और खाए जाते हैं, जिनके बारे में जानकार आप दंग रह जाएंगे। तो चलिए जानते हैं भारत में खाए जाने वाले उन अजीबो गरीब खानों के बारे में।

पूर्वोत्तर राज्य में कुत्ते के मांस को बड़े चाव के साथ खाया जाता है। यहां बकरी, सूअर, केकड़े और हाथी का मांस को भी खाया जाता है। यहां पर कुत्ते के मांस को भी कई तरीकों से बनाकर, इसका सेवन किया जाता है। आपको बता दें, ये डिश आदिवासी लोगों की बेहद पसंदीदा डिश है।

पूर्वोत्तर के एक अन्य राज्य सिक्किम में लेपचास समुदाय के लोग किफ्रॉग लेग्स  बेहद पसंद करते हैं। आपको बता दें, यहां के लोग मानते हैं किफ्रॉग लेग्स में कई औषधीय गुण होते हैं, जिसकी वजह से वो इसे सबसे ज्यादा खाते हैं। ऐसा माना जाता है कि इसे खाने से पेचिश और अन्य पेट की बीमारियां दूर होती हैं।

वहीं जदोह डिश भारत के मेघालय राज्य के उत्तर पूर्व में पाई जाती है। ये डिश जैतिया जनजाति के बीच सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। आपको ये जानकार हैरानी होगी कि इस व्यंजन को चावल के साथ सूअर के मांस या चिकन के मांस के साथ मिलाकर तैयार किया जाता है। वैसे ये खाना आपको बिल्कुल पुलाव की तरह लगेगा, लेकिन इसे रक्त और चिकन के साथ पकाया जाता है।