त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम का ऐलान जनवरी के आखिरी हफ्ते में किया जा सकता है। कारण, निर्वाचन आयोग ने तीनों राज्यों में चुनावी तैयारियों का जायजा लिया है। पूर्वोत्तर के इन तीनों चुनावी राज्यों में आयोग का चार दिवसीय दौरा रविवार को समाप्त हो रहा है। रविवार को निर्वाचन आयोग चुनावी तैयारियों की चर्चा अपने दौरे के समापन पर मेघालय की राजधानी कोहिमा में मीडिया के जरिए साझा करेगा।

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव : सीटों के बंटवारे में तालमेल को लेकर कांग्रेस की माकपा के साथ बातचीत

इस दौरे में मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार के साथ दोनों आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय और अरुण गोयल भी शामिल हैं। आयोग के अन्य आला पदाधिकारियों के साथ संबंधित राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारी भी दौरे में साथ रहे। तीनों राज्यों में आयोग ने मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशकों के साथ साथ राजनीतिक दलों के नुमाइंदों के साथ बैठकें की। सबसे चुनावी तैयारियों पर चर्चा की। 

ये भी पढ़ेंः विदेशी कंपनी लाई रॉयल एनफील्ड का सस्ता ऑप्शन, कीमत 1.49 लाख रुपए

चुनाव आयोग के अधिकारी सबसे पहले 11 जनवरी को त्रिपुरा पहुंचें। यहां से नागालैंड और अंत में मेघालय का दौरा किया गया। दरअसल, फरवरी में इन तीनों राज्यों में चुनाव होने हैं। इसके बाद अप्रैल मई में संभव है जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराए जाएं। फिर मई में कर्नाटक और फिर नवंबर में छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और मिजोरम के बाद साल के अंत यानी दिसंबर में तेलंगाना और राजस्थान में चुनाव की तारीखों का ऐलान किया जा सकता है।