सुपौल/कोहिमा। नागालैंड के दीमापुर थाना इलाके में 22 दुकानदारों को 1.06 करोड़ का चूना लगाकर फरार चल रहे एक शख्स को सुपौल के निर्मली शहर से बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार शख्स संजय साहा बक्सर जिले के सिमरी थाना इलाका स्थित काढा हाटन का रहने वाला है। बताया जा रहा है कि लंबे समय से नागालैंड के सुपर मार्केट इलाके में संजय साहा कपड़े का व्यवसाय करता था।

यह भी पढ़ें- असम के दो फिल्म समीक्षकों को इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फिल्म क्रिटिक्स के सदस्य के रूप में चुना गया


इस दौरान जब उनकी वहां पैठ जम गई तो उसने दीमापुर के सुपर मार्केट और रॉयल फूड इलाके के 22 दुकानदारों को चूना लगाना शुरू कर दिया और तक़रीबन डेढ़ दर्जन से अधिक बड़े व्यसायियों से तरह-तरह के सामानों की खरीद कर ली और जब बकाया राशि 1 करोड़ से अधिक हो गई तो उसने नागालैंड में अपने व्यवसायिक प्रतिष्ठान को बंद कर वहां से फरार हो गया।

जब संजय को यह भनक लगी कि उसके खिलाफ नागालैंड में केस दर्ज हो गए हैं, तब वह पुलिस और व्यवसायियों से बचने के उद्देश्य से अपने बक्सर जिले में भी रहना छोड़ दिया। नागालैंड और गृह जिला छोड़ने के बाद उसने नेपाल व मधुबनी जिले से सटे सुपौल के निर्मली शहर को अपना सेफ जोन बनाया। लगभग 2-3 साल से वह सुपौल के निर्मली शहर में वार्ड-6 स्थित एक किराए के मकान में रहकर अपना व्यवसाय चला रहा था। जबकि नागालैंड के दीमापुर थाने में दर्ज केस को लेकर पुलिस की पड़ताल शुरू थी।

यह भी पढ़ें- बिहार के चोरों का बड़ा कारनामा! सुरंग खोदकर चुरा लिया रेल का इंजन, जानिए कहां और कैसे

पुलिस अनुसंधान के क्रम में मोबाइल लोकेशन के आधार पर इसे ट्रैक किया गया और नागालैंड की पुलिस ने वरीय पुलिस अधिकारियों से इसके खिलाफ अंतर राज्यीय स्तर का वारंट निकलवाया। इसके बाद नागालैंड के दीमापुर थाने की पुलिस मंगलवार की देर शाम निर्मली थाना पहुंची। जहां निर्मली थानाध्यक्ष पंकज कुमार के नेतृत्व में स्थानीय पुलिस के सहयोग से संजय साहा को वार्ड नंबर 6 स्थित किराए के कमरे से दबोच लिया गया।

इधर, नागालैंड के दीमापुर थाना के ऑफिसर इंचार्ज एल माथुंग पैटोन और केस के आईओ एल माथुंग पैटोन ने बुधवार की सुबह में जानकारी देते हुए बताया कि नागालैंड के कुल 22 व्यवसायियों से 1 करोड़ 6 लाख रुपए का चूना लगाकर संजय साहा समेत 3 लोग फरार चल रहे थे। इसमें एक की गिरफ़्तारी निर्मली थाना पुलिस के सहयोग से कर ली गई है। संजय की निशानदेही पर अन्य 2 अभियुक्तों की गिरफ़्तारी के लिए भी अन्य ठिकाने पर छापेमारी की जा रही है। जल्द ही अन्य दो अभियुक्तों को भी गिरफ़्तार कर लिया जाएगा।