नागालैंड में वैसे को एक भी कोरोना पॉजिटिव नहीं हैं। एक था वो भी ठीक हो चुका है। लेकिन कोरोना लौटकर वापस ना आ जाए इसके लिए कोहिमा के केंद्र से 221 लोगों को रिहा कर दिया गया है। जानकारी  के लिए बता दें कि लोगों के ये समूह विभिन्न उत्तर पूर्वी राज्यों से आए थे, जिनमें मुख्य रूप से बसों और निजी वाहनों में सड़क मार्ग से छात्र थे।


पड़ोसी राज्यों से आने वाले लोगों के लिए सरकार के आदेशों के अनुसार, उन्हें 15 मई से 17 मई तक 3 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रखा गया था और जिनको आज रिहा कर दिया कर गया है। अब अपने-अपने गृह जिलों में पहुंचने के बाद लोगों को संस्थागत क्वारंटाइन के लिए 14 दिनों के होम क्वारंटाइन या संबंधित जिले के आदेश से गुजरना होगा।

बता दें कि इनको लाने के लिए राज्य सरकार द्वारा बसों की व्यवस्था की गई थी और आज ये 221 लोग तुएनसांग, फेक, किफ़ायर, वोखा, ज़ुनहेबोटो, मोकोकचुंग, लोंगलेंग जैसे जिलों के लिए रवाना हुए। ड्राइवरों और अप्रेंटिस को भी सुरक्षात्मक पीपीई पहनना अनिवार्य कर दिया गया है।