आईजीआई एयरपोर्ट थाना पुलिस ने बिना किसी यात्रा दस्तावेज के म्यांमार के रास्ते चीन जाने वाली मिजोरम की तीन महिलाओं के खिलाफ फर्जीवाड़े का मामला दर्ज किया है। महिलाओं को अवैध रूप से देश में रहने के आरोप में चीन की सुरक्षा एजेंसियों ने पकड़ा था और फिर उन्हें भारत में निर्वासित कर दिया है। तीनों महिलाओं को क्वारंटीन में भेजकर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, महिलाओं की पहचान मिजोरम निवासी लॉरेमरुआती, रिनसंगजुवाली और लॉरिनचानी के रूप में हुई है। 6 अगस्त की रात विमान से तीनों महिलाएं चीन से इंदिरा गांधी अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंची।

जांच के दौरान एयरपोर्ट अधिकारियों को इनके पास से कागजात मिले, जिसमें लिखा था कि तीनों महिलाओं को बिना दस्तावेज के म्यांमार के रास्ते चीन में घुसने आरोप में पकड़ा गया है और उन्हें निर्वासित किया जा रहा है। 

जांच करने पर पता चला कि तीनों महिला मिजोरम की रहने वाली है। महिलाओं से पूछताछ में बताया कि तीनों वर्ष 2019 में मिजोरम से म्यांमार चली गई और फिर वहां से बिना किसी दस्तावेज के चीन की सीमा में घुस गईं। जहां सुरक्षा एजेंसियों ने उन्हें पकड़ लिया।

एयरपोर्ट अधिकारियों का कहना है कि बिना किसी दस्तावेज के महिलाओं ने विदेश जाकर भारतीय इमीग्रेशन के साथ फर्जीवाड़ा किया है। एयरपोर्ट अधिकारियों की शिकायत पर पुलिस ने महिलाओं के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

विदेश से आने की वजह से पुलिस ने तीनों को क्वारंटीन में भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि क्वारंटीन की अवधि समाप्त होन क बाद महिलाओं से पूछताछ की जाएगी। इनसे पता लगाया जाएगा कि विदेश भेजने में इन लोगों की किसी ने मदद की थी या नहीं।