मिजोरम के आइजोल में हाल ही में हुए विस्फोट की जांच कर रही जांच एजेंसियां ​​अब इसमें म्यांमार के आतंकियों हाथ होने को लेकर जांच कर रही हैं। शुरुआत में माना जा रहा था कि सिलेंडर फटने से यह धमाका हुआ है। लेकिन, मौके पर जांच करने से डेटोनेटर और अन्य सामग्री के 900 टुकड़े बरामद हुए।

यह भी पढ़ें : सरकार को अरूणाचल में बड़ी कामयाबी, एक ही झटके में सरेंडर करवाई 2000 से अधिक एयर गन

आपको बता दें यह धमाका शुक्रवार को आइजोल के डर्टलांग इलाके में एक ऑटोमोबाइल वर्कशॉप में हुआ था। इस मामले में विस्फोटक एक पिकअप ट्रक में छिपाए गए थे, जिसकी मरम्मत वर्कशॉप में की जा रही थी। 

यह भी पढ़ें : युवक की कॉस्टेबल ने की इतनी खतरनाक पिटाई, हिल गया अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन

आइजोल में हुए इस विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई थी। इन मृतकों की पहचान ललमंगैहजुआला (29), लालमाविकिमा (18) और ललथाफमकिमा (48) के रूप में हुई है। इस मामले में म्यांमार लिंक को मृतक व्यक्ति के कब्जे से म्यांमार की मुद्राओं की बरामदगी के बाद जांच में जोड़ा गया है। इस पिकअप ट्रक का मालिक ललथाफमकिमा था उसके पास से ही ये मुद्रा मिली है।