मिजोरम के राज्यपाल पी.एस. श्रीधरन पिल्लई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राज्य में एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) स्थापित करने का आग्रह किया है। राज्य एचआईवी/एड्स, कैंसर और मलेरिया सहित कई खतरनाक बीमारियों से जूझ रहा है। 

एक अधिकारी ने रविवार को ये जानकारी दी। बयान के अनुसार, राज्यपाल ने शनिवार को दिल्ली में पीएम मोदी से मुलाकात की और मिजोरम में एम्स या कम से कम एम्स जैसी सुपर स्पेशियलिटी सुविधा देने की मांग की।

बयान में कहा गया कि प्रधान मंत्री का मिजोरम में एचआईवी/एड्स, कैंसर, मलेरिया, दिल की बीमारियों और अन्य न्यूरोलॉजिकल समस्याओं पर विशेष ध्यान दिलाया गया।

स्वास्थ्य क्षेत्र में, राज्यपाल ने प्रधान मंत्री को सुझाव दिया कि मिजोरम में स्वास्थ्य क्षेत्र काफी खराब हालत में है, यहां तक कि जिला मुख्यालय के अस्पताल भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं।

मोदी को यह भी बताया गया कि राज्य की राजधानी में भी, अस्पतालों में कुछ गंभीर रूप से बीमार रोगियों के इलाज के लिए पर्याप्त चिकित्सा व्यवस्था नहीं है और गंभीर रोगियों को अधिकांश समय राज्य से बाहर भेजने की जरूरत पड़ती है, जिसमें काफी पैसा लगता है।