आईजोल। मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा (Mizoram Chief Minister Zoramthanga) के नेतृत्व वाली राज्य सरकार अपने सभी पड़ोसी राज्यों के साथ शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को यह बात कही।

मिजोरम के मुख्यमंत्री के सलाहकार (तकनीकी) के ललसवमवेला ने यह भी स्पष्ट किया कि जोरमथंगा ने मिजोरम-असम अंतरराज्यीय सीमा (Mizoram-Assam Interstate Border) पर बाड़ को विस्तार देने की बात कभी नहीं कही क्योंकि वहां कोई बाड़ है ही नहीं।

ललसवमवेला ने एक बयान में कहा, 'माननीय मुख्यमंत्री जोरमथंगा (Chief Minister Zoramthanga) के नेतृत्व वाली मिजोरम सरकार (Mizoram government) हमेशा हमारे सभी पड़ोसी राज्यों और देशों के साथ शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध रही है।''

एक खबर में मुख्यमंत्री के हवाले से कहा गया था कि 'हम अपनी बाड़बंदी को विस्तार देने की कोशिश करेंगे।' इस खबर का जिक्र करते हुए ललसवमवेला ने बताया कि जोरमथंगा ने 25 नवंबर को नयी दिल्ली में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के साथ मुलाकात के बाद कहा था कि 'हम उस दोस्ती को बढ़ाने की कोशिश करेंगे, जो पहले से हमारे बीच है।'

उन्होंने कहा, 'चूंकि मिजोरम और असम (Mizoram and assam) के बीच सीमा पर कोई बाड़ है ही नहीं तो उसे बढ़ाने का कोई सवाल ही नहीं उठता। दोस्ती शब्द को बाड़ लगाने के रूप में लिया गया था, जो एक भ्रामक बात है।'