मिजोरम पुलिस ने 1.9 किलोग्राम हेरोइन के साथ एक व्यक्ति और उसके बेटे को गिरफ्तार किया है। सोमवार को अधिकारियों ने बताया कि ये लोग म्यांमार से राज्य में आए थे।

मिजोरम पुलिस के एक सीआईडी अधिकारी ने कहा कि 62 साल का दुहकीमा और उसका बेटा 33 वर्षीय रेम्थांगपुइया म्यांमार से तस्करी करके करीब एक करोड़ रुपये की हेरोइन लाए थे।

आरोपियों को शनिवार को नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया और अब सीआईडी अधिकारियों द्वारा उनसे पूछताछ की जा रही है।

सीआईडी के एक अधिकारी ने नाम बताने से इनकार करते हुए कहा, पुलिस बल की मौजूदगी को देखते हुए उन लोगों ने नदी में तैरकर भागने की कोशिश की। इस दौरान उन्होंने करीब 15 लाख रुपये कीमत की 280 ग्राम हेरोइन गिरा दी।

हालांकि मिजोरम की बांग्लादेश और म्यांमार के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा और त्रिपुरा, असम और मणिपुर के साथ अंतर-राज्यीय सीमाएं कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए सील कर दी गई हैं। फिर भी दवाओं, हथियारों और गोला-बारूद और अन्य चीजों की तस्करी अभी भी जारी है।

असम राइफल्स के जवानों ने हाल ही में म्यांमार से तस्करी करके लाए गए सुपारी से लदे 25 ट्रकों को जब्त किया है।

पर्वतीय क्षेत्र मिजोरम में म्यांमार के साथ 404 किलोमीटर और बांग्लादेश के साथ 318 किलोमीटर की अंतरराष्ट्रीय सीमा है। बीएसएफ बांग्लादेश सीमा की रक्षा करता है और म्यांमार के साथ सीमा की सुरक्षा असम राइफल्स द्वारा की जाती है।