आइजोल: मिजोरम सरकार ने म्यांमार के नागरिकों को शरणार्थी का दर्जा देने के लिए आवाज उठाई है जो वर्तमान में राज्य में रह रहे हैं।  मिजोरम के गृह मंत्री लालचामलियाना इस बात की पुष्टि की है । वर्तमान में कम से कम 30,000 म्यांमार के नागरिक मिजोरम के विभिन्न हिस्सों में रह रहे हैं।

Love Horoscope : इन राशि वालों के लिए आज रोमांस भरा रहेगा दिन, शेयर कर दीजिए अपने दिल की बात


मिजोरम के मंत्री ने एएनआई को बताया कि मिजोरम पिछले 20 महीनों से 30,000 से अधिक म्यांमार के नागरिकों को खाना खिला रहा है।

विशेष रूप से मिजोरम में कई गैर सरकारी संगठन और अन्य नागरिक समाज संगठन राज्य में रह रहे म्यांमार के नागरिकों को शरणार्थी का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं। ये म्यांमार के नागरिक पिछले साल सैन्य तख्तापलट के बाद अपने देश से भाग गए थे, जिसने लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित नागरिक सरकार को उखाड़ फेंका था।

Numerology Horoscope : आज का दिन इन मूलांक वालों के लिए रहेगा भाग्यशाली , जाँब व व्यवसाय में प्रगति होगी


मिजोरम के गृह मंत्री ने यह भी बताया कि राज्य सरकार म्यांमार के नागरिकों को शरणार्थी का दर्जा देने के लिए केंद्र को पत्र लिखने पर विचार कर रही है।

मिजोरम के गृह मंत्री ने कहा, जो लोग मिजोरम में अपनी शिक्षा जारी रखना चाहते हैं, हमारी सरकार ने उन्हें ऐसा करने की अनुमति दी है। उनमें से कुछ एचएसएलसी (कक्षा 10) की परीक्षा में भी शामिल होते हैं। 

Horoscope Today : :इन राशि वालों को व्यवसाय मिलेगी में सफलता, ये लोग स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही न करें


इसके अलावा उन्होंने इन आरोपों का खंडन किया कि ये म्यांमार के नागरिक हथियारों और ड्रग्स के व्यापार में शामिल रहे हैं। मिजोरम म्यांमार के साथ 510 किलोमीटर लंबी झरझरा सीमा साझा करता है।