मिजोरम में अफ्रीकन स्वाइन फीवर (एएसएफ) का कहर जारी है। इस खतरनाक स्वाइन बीमारी ने वर्तमान में छह जिलों के 31 गांवों और इलाकों को प्रभावित किया है। 25 मौतों के साथ फरवरी में स्वाइन बीमारी के ताजा प्रकोप के बाद से अब तक 1,983 सूअर मारे जा चुके हैं।

ये भी पढ़ेंः राष्ट्रपति कोविंद ने की आइजोल की 'No Horn, Noise pollution free' संस्कृति की तारीफ


इसके अलावा रविवार को एएसएफ से संक्रमित 34 सूअरों की भी मौत हो गई है। उनकी वास्तविक मौत के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। फरवरी से अब तक संदिग्ध एएसएफ की चपेट में आने से अब तक 473 सुअरों की मौत हो चुकी है। 

ये भी पढ़ेंः  त्रिपुरा को जोड़ने वाली अंतरराज्यीय परिवहन सेवा शुरू करेगा मिजोरम


पिछले साल एएसएफ के प्रकोप के कारण 33,417 सूअरों की मौत हो गई है, जिससे 60.82 करोड़ रुपये का मौद्रिक नुकसान हुआ है। उसी वर्ष एएसएफ के आगे प्रसार को रोकने के लिए कुल 10,910 सूअर भी मारे गए हैं। यह बीमारी पिछले साल मार्च में राज्य में पहली बार सामने आई थी।