मिजोरम के आइजोल में अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मार्ट के 10वें संस्करण की शुरुआत हो गई है। पूर्वोत्तर क्षेत्र का यह अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मार्ट ‘पर्यटन ट्रैक के लिए जी20 की प्राथमिकताओं’ पर ध्यान केंद्रित करेगा, क्योंकि भारत अगले साल 1 दिसंबर से 30 नवंबर तक एक साल के लिए प्रभावशाली समूह की अध्यक्षता ग्रहण करेगा।

12 दिन से गोल-गोल घूम रही भेड़ें, सामने आई हैरान करने वाली घटना, देखें वीडियो

सूबे के वाणिज्य और उद्योग मंत्री डॉ। आर। लालथलांगलियाना ने बुधवार को इस मेगा प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। यह इंटरनेशनल टूरिज्म मार्ट आइजोल में असम राइफल्स ग्राउंड में लगा है। इसका ही हिस्सा यह मेगा प्रदर्शनी थी। अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मार्ट के 10वें संस्करण, 3 दिवसीय मेगा पर्यटन कार्यक्रम का उद्घाटन केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी। किशन रेड्डी द्वारा आर। डेंग्थुआमा हॉल में किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय और मिजोरम पर्यटन विभाग द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है। राज्य के खेल मंत्री रॉबर्ट रोमाविया रॉयटे और पर्यटन विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष टीसी पछुंगा ने भी राज्य मेगा प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में भाग लिया।

प्रधानमंत्री मोदी आज ईटानगर में अरुणाचल के पहले ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे का करेंगे उद्घाटन

इस अवसर पर बोलते हुए ललथंगलियाना ने उम्मीद जताई कि मेगा पर्यटन कार्यक्रम न केवल मिजोरम बल्कि पूरे पूर्वोत्तर क्षेत्र में पर्यटन क्षेत्र में एक नया अध्याय लाएगा। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में राज्य में पर्यटन क्षेत्र में कई परियोजनाओं के साथ महत्वपूर्ण प्रगति दर्ज की गई है। मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जोरमथांगा के नेतृत्व वाली वर्तमान मिज़ो नेशनल फ्रंट सरकार ने पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया है।पर्यटन अन्य देशों में आय का मुख्य स्रोत है। वर्तमान राज्य सरकार ने भी पर्यटन को उद्योग का दर्जा स्वीकृत एवं प्रदान किया है। तब से हमने इस क्षेत्र में बहुत प्रगति देखी है। मेगा एक्जीबिशन में करीब 76 स्टॉले हैं। भारत के प्रमुख स्रोत बाजारों में पूर्वोत्तर की पर्यटन क्षमता को उजागर करने के लिए यह मार्ट आयोजित होता है। केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय 2013 से ही इसका आयोजन कर रहा है। यह अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम पूर्वोत्तर राज्यों में रोटेशन के आधार पर आयोजित किए जाते हैं। मिजोरम पहली बार मार्ट की मेजबानी कर रहा है।