मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा ने राज्य में कोरोना महामारी से जुड़े हालात पर चर्चा करने के लिए 2 जुलाई को सभी राजनीतिक पार्टियों, नागरिक समाज समूहों, छात्र संगठनों, मेडिकल एसोसिएशन और चर्च निकायों की बैठक बुलाई है। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि बैठक दोपहर 11 बजे आइजोल के विधानसभा सम्मेलन हॉल में होगी। बयान में बताया गया कि विधानसभा अध्यक्ष, स्वास्थ्य मंत्री और गृह मंत्री बैठक में उपस्थित होंगे।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, “आइजोल में 24 जून को सेंट्रल यंग मिजो एसोसिएशन (CYMA) की तरफ से बुलाई गई सभी राजनीतिक पार्टियों, गैर सरकारी संगठनों और गिरजाघरों की संयुक्त बैठक में एक प्रस्ताव पारित किया गया था, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने बैठक बुलाई है।” बैठक में मुख्य सचिव सहित वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भी शामिल होंगे। इसमें ‘ऑल मिजोरम विलेज काउंसिल एसोसिएशन’ और ‘आइजोल सिटी लोकल काउंसिल एसोसिएशन’ के प्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे। मिजोरम कोविड की दूसरी लहर से जूझ रहा है और लगभग 70 दिनों से लागू लॉकडाउन के बाद भी संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं।

वहीं, कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बुधवार को केंद्रीय मंत्री परिषद की बैठक की अध्यक्षता करेंगे। सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि इस मीटिंग में कोविड संबंधी हालात पर चर्चा होने की संभावना है और कुछ मंत्रालयों के कामकाज की समीक्षा भी की जा सकती है। यह बैठक बुधवार शाम को डिजिटल तरीके से होगी। उन्होंने बताया कि बैठक में सड़क एवं परिवहन मंत्रालय, नागर विमानन मंत्रालय और दूरसंचार मंत्रालय के कामकाज की समीक्षा की जा सकती है। इसमें कोविड-19 संबंधी हालात पर विस्तृत चर्चा भी हो सकती है।