मिजोरम में भाजपा के विधायक डॉ बीडी चकमा ने राज्य सरकार से कहा है कि कोरोना वायरस के लिए री-टेस्ट सैंपल के परीक्षण के लिए राज्य के बाहर किसी अस्पताल में रेफर किया जाए। चकमा ने मिजोरम के स्वास्थ्य मंत्री डॉ आर लालथंगलिया और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष डॉ जेडआर थिसिंगंगा को पत्र लिखकर उनसे आग्रह किया कि उन्हें कोलकाता या गुवाहाटी में रेफर किया जाए, ताकि डॉक्टर के उपस्थित होने के बाद अपने स्वाब के नमूनों की जांच के लिए पार कर सकें, क्योंकि उन्होंने सीओवीआईडी ​​के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था।

मैंने स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष को गुरुवार को लिखा है। मुझे लगता है कि राज्य स्तरीय COVID-19 विशेषज्ञ टीम इसके बारे में चर्चा कर रही है। चकमा ने कहा कि वह मंगलवार को फिर से परीक्षण के लिए नमूनो को एकत्र किया गया था। गुरुवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

उन्होंने कहा कि मैं बहुत हद तक ठीक हूं। मेरा आरटी-पीसीआर परीक्षण अभी भी पॉजिटिव है, सरकार इस पर फैसला करने दे, फिर मैं सरकार की राय सुनने के बाद दूसरा विचार दूंगा।

जानकारी के  चकमा ने 13 सितंबर को सीओवीआईडी ​​-19 के लिए पहली बार सकारात्मक परीक्षण किया था और शुरुआत में आइजोल से लगभग 16 किमी दूर स्थित राज्य में एकमात्र समर्पित सीओवीआईडी ​​-19 अस्पताल जोरम मेडिकल कॉलेज (जेडएमसी) में निरीक्षण के तहत था। उसे 17 सितंबर को ZMC से छुट्टी दे दी गई थी, जो आइजोल के खातला इलाके में एक कोविद -19 देखभाल केंद्र। 

बात करें देश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या की तो देश में कोरोना वायरस से 57 लाख से अधिक मामले हो गए हैं। केंद्रिय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में इस वक्त कोरोना वायरस के 970116 एक्टिव केस हैँ। कुल मामलों में से अब तक 4756164 संक्रमित लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, कोरोना वायरस के कारण देश में 92290 लोगों की मौत हो चुकी है।