असम राइफल्स ने म्यांमार और बांग्लादेश की सीमा से लगे मिजोरम के दो जिलों से 6.53 करोड़ रुपये की विदेशी सिगरेट और बड़ी मात्रा में हथियार एवं विस्फोटक जब्त किए हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि पूर्वी मिजोरम में म्यांमार से सटे चंफाई जिले के रुआंतलांग और केलकांग-खौंगलेंग रोड पर 6.53 करोड़ रुपये मूल्य की विदेशी मूल की सिगरेट के 502 डिब्बे जब्त किए गए और तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया। ऑपरेशन को असम राइफल्स और कस्टम प्रिवेंटिव फोर्स ने संयुक्त रूप से अंजाम दिया।

एक अन्य छापेमारी में, मिजोरम पुलिस के साथ केंद्रीय अर्धसैनिक बलों ने गुरुवार को म्यांमार और बांग्लादेश बॉर्डर से सटे लॉंगतलाई जिले के हमावंगबू गांव में एक जंगल से तीन पिस्तौल, 174 जिंदा राउंड, तीन किलो विस्फोटक, नौ डेटोनेटर और अन्य ऐसे स्टोर बरामद किए, जिनमें इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) शामिल हैं। असम राइफल्स ने एक बयान में कहा कि ये बरामदगी ‘दुश्मन तत्वों के लिए बहुत बड़ा झटका’ है, जिन्होंने हिंसक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए इन हथियारों और गोला-बारूद की खरीद की थी। ‘‘नशीले पदार्थों की चल रही तस्करी मिजोरम राज्य के लिए चिंता का एक प्रमुख कारण है, विशेष रूप से भारत-म्यांमार सीमा पर मुख्य चिंता कारण है। बयान में कहा गया, ‘‘असम राइफल्स ने पूर्वोत्तर के प्रहरी के रूप में मिजोरम और अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में तस्करी गतिविधियों के खिलाफ अपने प्रयास जारी रखे हैं।’’

असम राइफल्स के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल प्रदीप चंद्रन नायर ने इस सप्ताह की शुरुआत में उद्योग निकाय फिक्की द्वारा आयोजित एक आभासी (वर्चुअल) चर्चा में बोलते हुए कहा था कि बल ने पिछले साल से मिजोरम और मणिपुर में 1,603 करोड़ रुपये से अधिक की तस्करी का सामान जब्त किया है। लेफ्टिनेंट जनरल नायर ने कहा था, ‘‘अकेले असम राइफल्स के जवानों ने पिछले साल 857 करोड़ रुपये मूल्य का तस्करी का सामान जब्त किया था, जबकि इस साल अब तक 746 करोड़ रुपये के मादक पदार्थ जब्त किए गए हैं।’’