मिजोरम के लोकसभा सांसद सी. लालरोसंगा के एक प्रश्न पर केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने खुलकर जवाब दिया है। इसके तहत लवंगतलाई जिले के सैरंग से हमंगबुचुआ के लिए प्रस्तावित 223 रेलवे ट्रैक पर रोक दी गई है।

यह भी पढ़ें :  दी कश्मीर फाइल्स फिल्म के खिलाफ उतरा ये दबंग मुस्लिम नेता, कर दिया इतना बड़ा ऐलान

कहा गया है कि ब्रॉड गेज टोही इंजीनियरिंग-सह-यातायात सर्वेक्षण ने 223 किलोमीटर के खंड के लिए 15, 007 करोड़ रुपये की लागत आएगी। वैष्णव ने दावा किया कि इस परियोजना के परिणामस्वरूप रेल मंत्रालय को -10.45 रिटर्न की दर का नुकसान होगा, इसलिए इसको आगे नहीं बढ़ाने का निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़ें :  हिमंत बिस्वा सरमा का बड़ा बयान! असम में सबसे ज्यादा है मुसलमान, अब वे अल्पसंख्यक नहीं

एक अन्य अतारांकित प्रश्न के उत्तर में संचार मंत्री देवुसिंह चौहान ने कहा कि मिजोरम में 64 कोर बैंकिंग सुविधाएं होंगी। उनके अनुसार, भारत में 1,58,526 डाकघरों में 1,52,514 बुनियादी बैंकिंग प्रणालियाँ हैं, जो नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, एटीएम और डाकघर खातों को बेहतर बनाने में मदद कर सकती हैं।