मिजोरम-त्रिपुरा सीमा के पास सड़क निर्माण के लिए खोदे गए गड्ढे में कुछ ऐसा निकला जिसे देखकर सब दंग रह गए। जी हां शुक्रवार सुबह स्‍थानीय लोगों को गड्ढे से मानव खोपड़ी, हड्डियों, गहनों और मिट्टी के बर्तनों के अवशेषों मिले। ममित जिले के डिप्‍टी कमिश्‍नर डॉ लालरोजामा ने बताया, "सड़क का निर्माण चल रहा था।" "पहाड़ी काटने और बारिश के चलते शुक्रवार को मिट्टी में काफी नमी आ गई थी। इस दौरान वहां भूस्‍खलन हुआ। जब मजदूर मलबे को साफ कर रहे थे, मनुष्‍य की 12 खोपड़ियों, हड्डियों, आभूषणों (झुमके), एक धूम्रपान पाइप और मिट्टी के बर्तनों के टुकड़ों से मिले।

उन्‍होंने कहा कि इस संबंध में किसी भी तरह की टिप्‍पणी जल्‍दबाजी होगी लेकिन यह कहा जा सकता है कि खोपडि़यां मनुष्‍य की थीं। उन्‍होंने कहा कि वैज्ञानिक विश्‍लेषण के बिना ये नहीं कहा जा सका कि ये कितने पुराने हैं। लालरोजामा ने कहा कि बाकी सामानों को फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है। उन्‍होंने कहा कि स्‍थानीय लोगों ने इस संबंध में शुक्रवार सुबह 10 बजे पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी खोपडि़यों को बरामद किया।

उन्‍होंने बताया कि पिछले कुछ समय में मिजोराम और उसके आसपास के इलाकों में इस तरह के कंकाल मिलने की बातें सामने आई हैं। अभी कुछ समय पहले ही मिजोरम सीमा के करीब त्रिपुरा में स्थित जम्पुई पहाड़ियों में नरकंकाल मिले थे।