भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के क्रम में शनिवार को छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम के लिए अपने उम्मीदवारों की पहली सूचियां जारी कीं। भाजपा मुख्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में हुई भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में इन सूचियों को अंतिम रूप दिया गया। 

बैठक के बाद संसदीय बोर्ड के सचिव एवं केन्द्रीय मंत्री जे पी नड्डा ने एक संवाददाता सम्मेलन में इसकी घोषणा की। छत्तीसगढ़ की 90 सीटों में से 77 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर दी गयी है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पारंपरिक राजनांदगांव सीट से प्रत्याशी होंगे, जबकि हाल ही में भारतीय प्रशासनिक सेवा से त्यागपत्र देकर भाजपा में पदार्पण करने वाले युवा ओ पी चौधरी को खरसिया से उम्मीदवार बनाया गया है। इन 77 में से 14 सीटें ऐसी हैं, जिनमें भाजपा ने पुराने चेहरों की जगह नये चेहरों को स्थान दिया है। करीब 50 उम्मीदवार किसान पृष्ठभूमि से आते हैं। 

छत्तीसगढ़ में 12 और 20 नवंबर को दो चरणों में मतदान होगा। नड्डा ने तेलंगाना विधानसभा के लिए 38 उम्मीदवारों तथा मिजोरम के लिए 13 उम्मीदवारों की सूचियां जारी कीं। मिजोरम में सभी उम्मीदवार ईसाई समुदाय के हैं और पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं। छत्तीसगढ़ के उम्मीदवारों में भाजपा के कब्जे वाली तकरीबन सभी सीटों पर उम्मीदवार घोषित किये जा चुके हैं। ज्यादातर मंत्रियों के नाम भी इस सूची में शामिल हैं। 

विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल को कसडोल, मंत्री बृजमोहन अग्रवाल को रायपुर दक्षिण, ननकीराम कंवर को रामपुर (सुरक्षित) से, प्रेम प्रकाश पांडेय को भिलाई नगर से, अमर अग्रवाल को बिलासपुर से, राजेश मूणत को रायपुर पश्चिम से, चंद्रशेखर साहू को अभनपुर से, अजय चंद्राकर को कुरुद से, केदार कश्यप को नारायणपुर (सुरक्षित) से, श्रीमती लता उसेंडी को कोंडागांव (सुरक्षित), महेश गागड़ा को बीजापुर (सुरक्षित) से उतारा गया है। संसदीय बोर्ड की बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत, नड्डा, संगठन महासचिव रामलाल, महासचिव राम माधव, सैयद शाहनवाज हुसैन तथा अन्य नेता उपस्थित थे।