विजय हजारे ट्रॉफी में झारखंड ने मेघालय को 192 रनों के भारी अंतर से हरा दिया। झारखंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान विराट सिंह (112) और उत्कर्ष सिंह (नाबाद 128) के शानदार शतकों की बदौलत 50 ओवरों में सिर्फ दो विकेट खोकर 321 रन बनाए। इसके जवाब में मेघालय की पारी 40.3 ओवरों में 129 रनों पर सिमट गई। विकेटकीपर बल्लेबाज पुनीत बिष्ट ने सर्वाधिक 50 रन बनाए। मेघालय के पांच बल्लेबाज तो खाता भी नहीं खोल पाए। झारखंड के लिए सुशांत मिश्रा और विकास सिंह ने तीन-तीन विकेट लिए।

फीफा विश्व कप 2022: 32 टीमें, एक कप, दोहा में शुरू होगा फुटबॉल का महाकुंभ

विजय हजारे ट्रॉफी में लगातार दो हार के बाद सिक्किम को 10 विकेट से हराकर दिल्ली जीत की राह पर लौट आई। सिक्किम की पारी 34.4 ओवरों में महज 76 रनों पर सिमट गई। इस आसान से लक्ष्य को दिल्ली ने बिना विकेट खोए 9.2 ओवर में हासिल कर लिया। सलामी बल्लेबाज ध्रुव शोरे 43 जबकि कुंवर बिधुरी 33 रनों पर नाबाद रहे। दिल्ली के लिए नीतिश राणा और ललित यादव ने तीन-तीन विकेट चटकाए। इससे पहले दिल्ली को राजस्थान और कर्नाटक से शिकस्त झेलनी पड़ी थी।

वहीं राजस्थान ने विदर्भ को छह विकेट से हरा दिया। विदर्भ की पारी 47.2 ओवरों में 240 रनो पर सिमट गई। जवाब में राजस्थान ने यश कोठारी की शतकीय पारी (नाबाद 109) की बदौलत 44.1 ओवरों में चार विकेट पर 243 रन बनाकर मैच जीत लिया।

हिमंता बिस्वा सरमा ने कहाः मोदी को जिताओ, वर्ना हर शहर में आफताब होगा

असम ने जीत का सिलसिला जारी रखते हुए कर्नाटक को छह विकेट से हरा दिया। कर्नाटक ने निकिन जोस के शतक (100) और कप्तान मयंक अग्रवाल (64) और मनीष पांडेय (नाबाद 58) के अद्र्धशतकों की बदौलत निर्धारित 50 ओवरों में चार विकेट पर 296 रनों का अच्छा-खासा स्कोर खड़ा किया, जिसे असम ने स्वरूपम पुरकायस्थ के नाबाद 112 और शिवंशंकर राय के नाबाद 66 और राहुल हजारिका के 50 रनों की बदौलत 10 गेंदें शेष रहते चार विकेट खोकर हासिल कर लिया।