उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू (Vice President M Venkaiah Naidu) ने सोमवार को मेघालय (Meghalaya) की राजधानी को डौकी शहर से जोड़ने वाली एक सड़क के पुनरुद्धार की आधारशिला रखी जो भारत-बांग्लादेश सीमा (India-Bangladesh border) पर स्थित है। इसके साथ ही नायडू (Naidu) ने पूर्वोत्तर क्षेत्र में पर्यटन की संभावनाओं को प्रोत्साहन करने के उद्देश्य से संपर्क को सुधारने की जरूरत को भी रेखांकित किया। राष्ट्रीय राजमार्ग-40 पर इस परियोजना के लिए 1,600 करोड़ रुपये मंजूर किये गए हैं और उम्मीद है कि इसके पूरा होने से फीडर सड़क पर यातायात कम होगा और शिलांग तथा डौकी के बीच यात्रा में लगने वाले समय में भी कमी आएगी।

नायडू (Naidu) ने यहां स्टेट कन्वेंशन सेंटर में डिजिटल माध्यम से परियोजना की आधारशिला रखी और कहा कि सड़क का एक बार पुनरुद्धार होने के बाद माल की आवाजाही में सुविधा होगी, सेवा में तेजी आएगी और क्षेत्र का सर्वांगीण विकास होगा। उन्होंने केंद्र से प्राप्त पैसे के उचित उपयोग के साथ पूर्वोत्तर राज्यों में सभी विकास कार्यों में तेजी लाने का आह्वान किया। नायडू (Naidu) ने कहा, “अगर हम यहां सभी परियोजनाओं में बिना देरी के तेजी ला सकें तो पूर्वोत्तर राज्यों में इतनी क्षमता है कि वे देश के विकास का इंजन बन सकते हैं।”

उन्होंने कहा कि राष्ट्र का विकास इस क्षेत्र के विकास के बिना अधूरा है। पूर्वोत्तर में उग्रवादी गतिविधियों में कमी पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि प्रगति के लिए शांति आवश्यक है। नायडू (Naidu) पूर्वोत्तर क्षेत्र की 12 दिवसीय यात्रा पर हैं और इस क्रम में सोमवार को वे मेघालय (Meghalaya) पहुंचे।