शिलांग में पैदा हुए उपद्रव के बाद यहां लगाए गए कर्फ्यू में गुरुवार की सुबह पांच बजे से 12 घंटे की ढील दी गयी क्योंकि पिछले 24 घंटे में कानून व्यवस्था में सुधार हुआ था। एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह प्रतिबंध हालांकि रात के दौरान जारी रहेगा। पूर्वी खासी हिल्स के उपायुक्त आई लालू ने आदेश जारी कर शिलांग शहरी में 19 अगस्त को सुबह पांच बजे से शाम पांच बजे तक 12 घंटे के लिए कर्फ्यू में ढील के आदेश दिए हैं।

आदेश के मुताबिक, आवश्यक वस्तुओं की बिक्री करने वाली दुकानों को शाम चार बजे तक खोलने के आदेश दिये गए हैं और दोपहर तीन बजे तक बैंकों में लेन-देन की अनुमति दी गयी है। जिला प्रशासन ने बुधवार को राज्य की राजधानी में शाम चार बजे तक 11 घंटे के लिये कर्फ्यू हटाया था।

अधिकारी ने बताया कि एक पूर्व उग्रवादी के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने के बाद 15 अगस्त को राजधानी और आस पास के इलाकों में तोड़फोड़ और आगजनी की घटना हुई थी, इसके बाद उसी दिन शाम से मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गयी थी। उन्होंने बताया कि बुधवार की रात से मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गयी।

मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने मंगलवार को कहा था कि अशांति के बाद यहां लगाया गया कर्फ्यू 18 अगस्त को दिन के समय के लिए हटा लिया जाएगा क्योंकि पिछले 24 घंटे में कोई अप्रिय घटना नहीं घटी है। उन्होंने कहा था कि पाबंदियों में ढील बुधवार शाम तक जारी रहेगी।

शिलांग में 18 अगस्त की सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लागू किया गया था और कम से कम चार जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद की गई थी। सरकार ने यह फैसला स्वतंत्रता दिवस के दिन पूर्व उग्रवादी की शव यात्रा के दौरान समर्थकों द्वारा की गई तोड़-फोड़ और हिंसा के बाद लिया था। पूर्व उग्रवादी हाल में पुलिस मुठभेड़ के दौरान मारा गया था।

मुख्यमंत्री ने कहा था कि बुधवार शाम को मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी बहाल कर दी जाएंगी। उन्होंने कहा था, ‘पिछले 24 घंटे में राज्य की राजधानी (शिलांग) में कोई अप्रिय घटना नहीं हुई है। हम आशावान हैं कि सामान्य स्थिति लौटेगी। हम बुधवार शाम तक कर्फ्यू में ढील देंगे। बुधवार शाम तक मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी बहाल कर दी जाएंगी।’