मेघालय मानवाधिकार आयोग (एमएचआरसी) ने एक गर्भवती महिला के आपातकालीन सेवा एम्बुलेंस में बच्चे को जन्म देने की खबर पर संज्ञान लेते हुए राज्य के मुख्य सचिव से रिपोर्ट मांगी है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक नोंगपोह सिविल अस्पताल, एच गॉर्डन रॉबर्ट्स अस्पताल, नाज़रेथ अस्पताल और बेथानी अस्पताल की शिलांग और नोंगपोह दोनों शाखाओं ने महिला का इलाज करने से मना कर दिया। 

भोई जिले में उम्डन नोंगतलुह से कबीले से ताल्लुक रखने वाली महिला ने आखिर में नॉर्थ ईस्टर्न इंदिरा गांधी रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड मेडिकल साइंसेज के परिसर में 108 आपातकालीन सेवा की एम्बुलेंस में बच्चे को जन्म दिया।