शिलॉन्ग। इस मानसून सीजन में अब मेधालय, असम और अरूणाचल में बारिश शुरू हो चुकी है। इसी के साथ ही यूपी के पूर्वी हिस्से में चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक ट्रफ रेखा इस चक्रवाती परिसंचरण से बिहार उपहिमालयी पश्चिम बंगाल और असम होते हुए नगालैंड में फैली हुई है। एक और ट्रफ रेखा बिहार से झारखंड और छत्तीसगढ़ होते हुए उत्तरी तटीय आंध्रप्रदेश तक फैली हुई है। एक चक्रवाती परिसंचरण पूर्वी मध्य और उससे सटे दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर समुद्र तल से 3.1 से 7.6 किमी ऊपर है।

यह भी पढ़ें: इस्लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के खिलाफ 16 मामले दर्ज

खबर है कि पिछले 24 घंटों के दौरान असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई है। शेष पूर्वोत्तर भारत, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, उपहिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और ओडिशा के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई है।

पश्चिम बंगाल, झारखंड के पूर्वी हिस्सों, केरल, तमिलनाडु, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश हुई और विदर्भ और जम्मू-कश्मीर में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हुई। दिल्ली के कई हिस्सों और जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, दक्षिण उत्तरप्रदेश, उत्तरी मध्यप्रदेश, विदर्भ के पूर्वी हिस्से, उत्तरी राजस्थान ओडिशा और छत्तीसगढ़ में कुछ स्थानों पर लू की स्थिति बनी।

यह भी पढ़ें: सीएम एस्कॉर्ट वाहन से म्यूजिक सिस्टम चोरी करने वाला ड्राइवर गिरफ्तार

मौसम विभाग के अनुसार अब अगले 24 घंटों के दौरान, पूर्वोत्तर भारत, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और तटीय कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। लक्षद्वीप, केरल, आंतरिक तमिलनाडु, उपहिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, गंगीय पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। बिहार के पूर्वी हिस्सों, दक्षिण कोंकण और गोवा और जम्मू-कश्मीर में हल्की बारिश संभव है।

दिल्ली के कई हिस्सों और जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, दक्षिण उत्तरप्रदेश, उत्तरी मध्यप्रदेश, विदर्भ के पूर्वी हिस्से, उत्तरी राजस्थान, ओडिशा और छत्तीसगढ़ में कुछ स्थानों पर लू की स्थिति संभव है।