उग्रवादी संगठन हाइनीवट्रेप नेशनल लिबरेशन काउंसिल (एचएनएलसी) के साथ शांति वार्ता में मेघालय सरकार के वार्ताकार पीटर एस दखर जल्द ही संगठन के नेताओं के साथ चर्चा शुरू करेंगे। मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने यह जानकारी देते हुए कहा, वार्ताकार अब काम करना शुरू करेंगे, ताकि जल्द ही पूरी तस्वीर स्पष्ट हो सके। 

ये भी पढ़ेंः पुतिन से बाएं हाथ से लड़ना चाहता है ये अरबपति शख्स, खतरनाक कमांडर को दिया ऐसा जवाब


उन्होंने कहा, एचएनएलसी तक बात पहुंच गई है और उन्होंने भी मौखिक रूप से हमें सूचित किया है कि हमने बातचीत के लिए जिन लोगों को नामित किया है, वे भी उन पर सहमत हैं। उन्होंने कहा कि विभिन्न स्तरों पर बातचीत हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा, यह सिर्फ मुझे या किसी और को एक पत्र लिखने या फोन करने जितना आसान नहीं है। एक प्रक्रिया है, जिसका हमें पालन करना है और उन प्रक्रियाओं का पालन किया जा रहा है। उनसे बातचीत की जा रही है। भले ही तत्काल लिखित रूप में नहीं, लेकिन हमने उन्हें इस फैसले के बारे में सूचित कर दिया है और वे इसके बारे में जानते हैं। 

ये भी पढ़ेंः अमेरिका के पास है सबसे खतरनाक Helicopter, बिना पायलट के ही मार गिराता है दुश्मन


गौरतलब है कि मेघालय सरकार ने एचएनएलसी के साथ शांति वार्ता के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी पीटर एस दखर को वार्ताकार नियुक्त किया है। इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के पूर्व विशेष निदेशक अक्षय कुमार मिश्रा दखर की सहायता करेंगे। मिश्रा केंद्रीय गृह मंत्रालय (पूर्वोत्तर) में सलाहकार और नागा शांति वार्ता के वार्ताकार भी हैं।