शिलांग। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) मेघालय पुलिस के साथ मिलकर शिलांग धमाके में कथित तौर पर शामिल हाइनीवट्रैप नेशनल लिबरेशन काउंसिल (SNLC) के पांच गिरफ्तार उग्रवादियों से पूछताछ कर रही है। एक अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी। 

एक एनआईए अधिकारी ने नाम का खुलासा नहीं किये जाने की शर्त पर बताया 'हम गिरफ्तार किये गए एचएनएलसी उग्रवादियों से पूछताछ कर रहे हैं ताकि यह पता लगाया जा सके कि लम्शनॉग में स्टार सीमेंट मेघालय लिमिटेड के आवास पर हुए धमाके में वे शामिल थे या नहीं।' एनआईए दिसंबर 2020 में पूर्वी जैंतिया हिल्स के लम्शनॉग में स्टार सिमेंट मेघालय लिमिटेड में हुए धमाके की जांच कर रहा है। 

एनआईए अधिकारी ने कहा कि एजेंसी ने 30 जनवरी को पुलिस बाजार में हुए बम धमाके की जांच मेघालय पुलिस से अपने हाथ में नहीं ली है। एनआईए को राज्य सरकार की विशेष अनुमति के बिना किसी भी राज्य में आतंकवाद-संबंधी अपराधों की जांच करने का अधिकार है। मेघालय पुलिस ने दो नाबालिगों समेत पांच एचनएलसी उग्रवादियों को पुलिस बाजार धमाके में शामिल होने के लिए गिरफ्तार किया है। इनमें से एक नाबालिग ने अपने आप को 'शिलांग क्षेत्र का कमांडर' बताते हुए धमाके को अंजाम देने की बात कबूल की है और 17 वर्षीय आरोपी ने लैतुमखराह बाजार में धमाका करने और सत्तारूढ़ नेशनल पीपल्स पार्टी (एनपीपी) के कार्यालय के आगे बम लगाने की बात भी कबूली है। 

बांग्लादेश में अपने ठिकाने से हिट-एंड-रन ऑपरेशन चलाने वाला एचएनएलसी मेघालय में एक संप्रभु हाइनीवट्रेप मातृभूमि की मांग कर रहा है। मेघालय बांग्लादेश के साथ 443 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करता है जिसका एक बड़ा हिस्सा पहाड़ी और बिना बाड़ वाला है जहां से लगातार घुसपैठ की आशंका बनी रहती है।