मेघालय के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एफ आर खरकोनगोर (Meghalaya Chief Electoral Officer FR Kharkongor) ने रविवार को कहा कि मेघालय में तीन विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव (Meghalaya by-election) में 85,000 से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

उन्होंने बताया कि कुल 1.02 लाख पात्र मतदाताओं में से राजाबाला में सर्वाधिक 90.63 प्रतिशत, मावफलांग एलएसी में 76.90 प्रतिशत और मावरिंगनेंग एलएसी में 75.06 प्रतिशत मतदाताओं ने मतदान किया।

मेघालय (Meghalaya) के वेस्ट गारो हिल्स जिले की राजाबाला विधानसभा सीट पर चुनाव से पहले हिंसा हुई थी, लेकिन कल मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुआ।

उन्होंने बताया कि राजाबाला में धारा 144 लागू की गई थी और कोविड-19 (covid-19) से बचाव से नियमों का पूरी कड़ाई से पालन किया गया। कांग्रेस के दो विधायकों-- मावरिंगनेंग एलएसी से डेविड ए नोनग्रम और राजाबाला से डॉ आजाद जमां और मावफलांग एलएसी से एक निर्दलीय विधायक एस के सन के निधन के कारण रिक्त हुई सीटों पर उपचुनाव कराया गया।

गौरतलब है कि वर्ष 2018 में मावरिंगनेंग में 85.50 प्रतिशत, मावफलांग में 88.68 प्रतिशत और राजाबाला में 93.39 प्रतिशत मतदान हुआ था।