राष्ट्रीय राजधानी समेत उत्तर भारत के अन्य हिस्सों में दक्षिण पश्चिम मानसून चार-पांच दिन विलंब से पहुंचेगा। भारतीय मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि मौसम की मौजूदा स्थिति के मद्देनजर दक्षिण पश्चिम मानसून के राजस्थान , दिल्ली , पंजाब , हरियाणा , चंडीगढ़ और पश्चिमी उत्तर प्रदेश की ओर बढऩे के अभी आसार नहीं है तथा इसमें चार-पांच दिन की देरी होगी। 

उन्होंने अनुमान जताया कि अगले सप्ताह शनिवार से बंगाल की खाड़ी से नमी वाली हवाओं का उत्तर भारत की ओर पहुंचना शुरू होगा और इसके बाद ही मानसून के लिए अनुकूल स्थिति बनेगी। उन्होंने बताया कि बंगाल की खाड़ी से उत्तर-पूर्व और इससे सटे पूर्वी भारत के क्षेत्रों में तीव्र हवाओं के असर से अगले पांच दिनों के दौरान बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, झारखंड, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में तेज बारिश होगी। 

अगले 24 घंटों के दौरान बिहार, झारखंड और गांंगेय पश्चिम बंगाल में मध्यम दर्जे से अधिक रफ्तार की हवाएं चलने और बिजली कड़कने के साथ बारिश हो सकती है।