स्वास्थ्य मंत्री जेम्स संगमा (Health Minister James Sangma) ने शुक्रवार को कहा कि मेघालय सरकार यूक्रेन में फंसे छात्रों (Meghalaya Students in Ukraine) और राज्य के अन्य नागरिकों को सुरक्षित निकालने के लिए विदेश मंत्रालय के लगातार संपर्क में है। मंत्री, (जो यूक्रेन में फंसे मेघालय के लोगों की सही संख्या नहीं बता सके) ने कहा कि मुख्यमंत्री कोनराड के. संगमा (conrad K. sangma) ने भी विदेश मंत्रालय के साथ इस मामले को उठाया।

ये भी पढ़ें

अब यूक्रेन की राजधानी कीव को तबाह होने से नहीं बचा सकता कोई, ऐसे हथियार लेकर पहुंचे रूसी सैनिक


स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister) ने मीडिया से कहा, हमें उम्मीद है कि जब तक इन फंसे हुए लोगों को भारत लाया जाता है, वे सुरक्षित और स्वस्थ रहेंगे। मेघालय के लोग यूक्रेन की राजधानी कीव (Ukraine capital Kiev) और देश के अन्य स्थानों में हैं।मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने पहले ट्वीट किया था, मेघालय के छात्रों के यूक्रेन में फंसे होने की खबर मिली है। माननीय केंद्रीय विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर से विनम्र अनुरोध है कि सभी भारतीय नागरिकों की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करें। हम सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। शांति बनी रहे।

ये भी पढ़ें

रूसी जवानों से भिड़ने से पहले यूक्रेनी सैनिक ने माता-पिता को भेजा ऐसा वीडियो, आपकी भी आंखें हो जाएंगी नम


मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि मेघालय (Meghalaya Students in Ukraine) के 10 से अधिक छात्र, (जो उस देश में स्नातक चिकित्सा की पढ़ाई कर रहे हैं) यूक्रेन में फंसे हुए हैं। भारत सरकार युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसे भारतीयों को भूमि मार्गों से वापस लाने का प्रयास कर रही है।