पूर्वोत्तर राज्यों में हस्तशिल्प का कार्य बहुत ही ज्यादा है। यहां हाथों से बनी बेहद खूबसूरत घरेलू चीजें हैं। इन हाथों के कमाल को पूरी दुनिया से वाकिफ कराने के लिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मेघालय (Meghalayan) के हाथ से बने और दस्तकारी उत्पादों के लिए एक आउटलेट खोला गया है। देखिए बांस से बने नेकलेस और झूमके।



हाल ही में कनॉट प्लेस में बाबा खड़क सिंह रोड पर राजीव गांधी हस्तशिल्प भवन में स्टोर, मेघालयन एज, एक वन-स्टॉप मार्केट (one-stop market) स्पेस लॉन्च किया गया था। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने स्टेट एम्पोरियम का उद्घाटन किया। जिस स्टोर में आधुनिक वास्तुशिल्प सौंदर्य है, वह उत्तर-पूर्वी राज्य में उत्पादित कला, हस्तशिल्प (Handicrafts) और वस्त्रों के मूल्य को बढ़ाने के लिए मेघालय सरकार की एक पहल है।

यह क्षेत्र की आदिम परंपराओं और संस्कृतियों को संरक्षित करने और स्थानीय उद्यमियों के प्रयासों और संघर्षों को प्रगतिशील समर्थन और सुदृढीकरण प्रणालियों में जोड़ने का एक मंच है। यह विशेष रूप से भोजन, हस्तशिल्प (Handicrafts) और प्राकृतिक फाइबर के उत्पादन और निर्माण पर जोर देने का इरादा रखता है।

स्टोर में सुंग वैली (Sung Valley) के ब्लैक क्ले पॉटरी (Black Clay Pottery) से लेकर रिंडिया सिल्क तक के क्यूरेटेड उत्पादों का विविध चयन है। इसके अलावा, यह मेघालय के कृषि-उत्पाद जैसे लाकाडोंग हल्दी, जंगली वन शहद, सोहियोंग जैम, और अन्य स्थानीय रूप से उगाए गए मसाले, अनाज, और जड़ी बूटी बेचता है।