शिलांग। मेघालय में बच्चों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के आहार में पोषक सामग्री को बेहतर करने के लिए पूरक खाद्य सामग्री के रूप में उबले हुए अंडे उपलब्ध कराए जायेंगे।

ये भी पढ़ेंः मनीष सिसोदिया के घर CBI रेड, केजरीवाल ने कहाः स्वागत है, पूरा cooperate करेंगे

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 3  महीने के लिए पायलट प्रोजेक्ट आधार पर सभी जिलों में यह पूरक आहार उपलब्ध कराया जाएगा और इस कार्यक्रम की शुरूआत स्वतंत्रता दिवस सें की गई है।

उन्होंने कहा कि यह समेकित बाल विकास योजना (आईसीडीएस) केंद्रों पर तीन से छह वर्ष आयु वर्ग के बच्चों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को दिए जाने वाले तैयार भोजन से अलग है।

ये भी पढ़ेंः प्रशांत किशोर ने बिहार में महागठबंधन सरकार की स्थिरता पर जताया संदेह, कह दी ऐसी बात

सामाजिक कल्याण विभाग की अधिकारी ने कहा की इस योजना से करीब 10,732 बच्चे और 2,924 गर्भवती (महिलाएं) एवं स्तनपान कराने वाली माताएं लाभान्वित होंगी। उन्होंने कहा कि अंडे को प्रोटीन, लोहा, विटामिन ए,डी,ई और के तथा ओमेगा फैट्टी एसिड का एक अच्छा स्रोत माना जाता है।