मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा (Meghalaya Chief Minister Conrad Sangma) ने गणतंत्र दिवस (Republic day) के मौके पर पोलो ग्राउंड में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री ने झंडा फहराया। उनपर कोविड-19 प्रोटोकॉल (covid-19 protocol) को तोड़ने का आरोप लगा है। संगमा के अलावा मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Meghalaya Governor Satya Pal Malik) कोरोना संक्रमित (corona infected) हो गए हैं। उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। इसी वजह से वो गणतंत्र दिवस (Republic day) कार्यक्रम में अनुपस्थित थे। जिसके बाद सीएम ने राष्ट्रध्वज फहराया। बता दें कि 21 जनवरी को कोनराड संगमा (Conrad Sangma) की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बावजूद वो इस कार्यक्रम में शामिल हुए। सीएम के इस कदम की सोशल मीडिया (social media) पर खूब आलोचना हो रही है।

गौर हो कि बीते शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने खुद कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी ट्विटर पर दी थी। उन्होंने बताया था कि उन्हें माइल्ड सिम्टम थे। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग की नई गाइडलाइन के मुताबिक कोविड-19 संक्रमित मरीज को 7 दिनों के लिए आइसोलेशन में जाना होता है। इसके साथ ही यह गाइडलाइन में है कि सभी असिम्टोमैटिक मरीजों और उच्च-खतरे वाले कॉन्टैक्ट्स को पांच दिनों के लिए क्वारन्टाइन होना जरूरी है और उन्हें मास्क लगाना भी अनिवार्य है।

गौर हो कि मेघालय में बुधवार को कोविड-19 के 392 नए मामले सामने आए जो मंगलवार की तुलना में पांच कम है। इसके साथ ही राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 89,553 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी। साथ ही अधिकारी ने बताया कि राज्य में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 1503 हो गई है।