शिलांग। पूर्वोत्तर राज्य मेघालय के विधानसभा ने स्पीकर एम. लिंगदोह के खिलाफ खुन हाइनीवट्रेप नेशनल अवेकनिंग मूवमेंट (केएचएनएएम) के एकमात्र विधायक द्वारा दिये गये विशेषाधिकार हनन के नोटिस को ध्वनि मत से खारिज कर दिया है।

यह भी पढ़ें- इंडियन आर्मी का जलवा, बस एक साल में इतने आतंकवादियों को सुलाया मौत की नींद

एडेलबर्ट नोनग्रुम ने नोटिस देते हुए ऐसा दावा किया कि विधानसभा अध्यक्ष ने नियमों का पालन नहीं किया है। 

यह भी पढ़ें- तो क्या कभी भी गिर सकती है इमरान खान की सरकार, इतने सांसदों ने की बगावत

उनके अनुसार जब उन्होंने आठ मार्च को एक विधेयक पेश किया था और इस तरह उनके (नोनग्रुम के) विशेषाधिकार का हनन किया।