मेघालय के फूलबाड़ी विधानसभा क्षेत्र में चुनाव पूर्व हिंसा के मुख्य संदिग्ध को तीन मार्च तक एहतियातन हिरासत में रखा गया है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी एफ.आर. खारकोंगोर ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि वेस्ट गारो हिल्स पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार, हिंसा के सिलसिले में अब तक 47 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 142 को अपराध प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 107 के तहत अदालत ने प्रतिबंधित किया है। 

ये भी पढ़ेंः हिमंता सरमा का बड़ा दावाः मेघालय में होगा भाजपा का मुख्यमंत्री

उल्लेखनीय है कि चारबतापारा गांव में गत सात फरवरी की रात सत्तारूढ़ नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के समर्थकों के बीच हुई झड़प हुयी थी। चुनाव पूर्व हिंसा की इस घटना में चार लोग घायल हो गए थे। वहीं इससे पहले मेघालय के वेस्ट गारो हिल्स जिले से एक व्यक्ति को सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, जिसमें दिख रहा है कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की कोई भी बटन दबाने पर मत भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पक्ष में दर्ज हो रहा है। 

ये भी पढ़ेंः मेघालय विधानसभा चुनाव 2023: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तुरा में मेगा रैली आयोजित करने की अनुमति नहीं , बताई ये वजह

मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) एफ आर खारकोनगोर ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान बोलोंग आर संगमा के तौर पर की गई है और उसने 16 फरवरी को साझा किए गए वीडियो में ईवीएम में छेड़छाड़ का आरोप लगाया था।