मेघालय सरकार ने राज्य में COVID-19 की परीक्षण क्षमता में तेजी लाने के लिए उत्तर पूर्वी इंदिरा गांधी क्षेत्रीय स्वास्थ्य और चिकित्सा विज्ञान संस्थान, NEIGRIHMS में एक और रियल-टाइम-पीसीआर मशीन स्थापित की गई है। वैसे जानकारी के लिए बता दें कि मेघालय में किसी भी तरह का कोरोना का प्रकोप नहीं लेकिन इससे जंग करने की हमने पूरी तैयारी कर ली है।


इसके लिए एक अन्य रियल-टाइम-पीसीआर मशीन स्थापित होने के साथ, यह उम्मीद है कि COVID-19 नमूनों की परीक्षण क्षमता एक दिन में 415 परीक्षण तक बढ़ जा सकती है। NEIGRIHMS के निदेशक डॉ. डीएम थप्पा ने बताया कि इसकी एक आरटी-पीसीआर मशीन थी और इसके साथ, वे एक दिन में 99 परीक्षण करने में सक्षम थे और उसके बाद, उन्हें दो सीवी नेट मशीनें मिलीं, जो 40 परीक्षण कर सकती थी।


इसके बाद क्षमता बढ़कर 136 हो गई। एक अन्य आरटी-पीसीआर मशीन स्थापित होने से क्षमता बढ़कर 450 हो जाएगी। थप्पा ने जानकारी देते हुए कहा कि ट्रूनेट - एक स्क्रीनिंग टूल है, और इसके माध्यम से यदि कोई परीक्षण सकारात्मक आता है तो उन्हें इसे पुष्टि के लिए NEIGRIHMS को भेजना होगा। अब ट्रूनेट और आरटी-पीसीआर सुविधा होने से राज्य की परीक्षण क्षमता को काफी हद तक बढ़ाया जा सकता है।