शिलांग : मेघालय सरकार ने कम से कम दो स्वायत्त जिला परिषदों को सभी राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर लगाए गए टोल गेटों को बंद करने को कहा है। 

यह भी पढ़े : Yogini ekadashi 2022 : योगिनी एकादशी पर करें ये छोटा सा उपाय, समस्त मनोकामनाएं हो जाएंगी पूरी


मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने खासी हिल्स ऑटोनॉमस डिस्ट्रिक्ट काउंसिल (केएचएडीसी) और जयंतिया हिल्स ऑटोनॉमस डिस्ट्रिक्ट काउंसिल (केएचएडीसी) को यह निर्देश दिया।

यह भी पढ़े : आज शुक्रवार को कर लें ये छोटा सा काम, मां लक्ष्मी की कृपा से बरसने लगेगा धन


गुरुवार को मेघालय के सीएम कोनराड संगमा ने शिलांग में केएचएडीसी और जेएचएडीसी के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। बैठक में मेघालय के उपमुख्यमंत्री प्रेस्टोन तिनसोंग और जिला परिषद मामलों (डीसीए) के मंत्री लखमेन रिंबुई भी मौजूद थे।

यह भी पढ़े : Horoscope 24 June : इन 4 राशि वालों को बिजनेस में मिलेगी सफलता, ये राशि वाले सूर्यदेव को जल दें, काली वस्‍तु का दान करें


इस मामले पर बोलते हुए मेघालय के मंत्री लखमेन रिंबुई ने कहा कि राज्य सरकार ने सूचित किया है कि जिला परिषद टोल गेट संचालित करने के हकदार नहीं हैं। मेघालय के मंत्री रिंबुई ने कहा, "एडीसी को राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर संग्रह के लिए कानून द्वारा अधिकार नहीं दिया गया है।

उन्होंने कहा: "हमने केएचएडीसी और जेएचएडीसी से सभी टोल गेटों को तुरंत बंद करने को कहा है जिस पर वे सहमत हो गए हैं।"