मेघालय में रहने वाले लोगों के सामने बिजली संकट गहरा रहा है। राज्य में रविवार से रोजाना सात घंटे लोड-शेडिंग के तहत बिजली आपूर्ति बंद रखी जाएगी। दरअसल, सरकारी बिजली कंपनी पर काफी बकाया होने के कारण राज्य को पर्याप्त बिजली उपलब्ध नहीं हो रही है। मेघालय बिजली निगम लिमिटेड के वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी है कि तीन अलग-अलग पालियों में बिजली कटौती की जा रही है।
अधिकारी ने बताया कि निगम पर पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड का 74.65 करोड़ रुपये का ट्रांसमिशन शुल्क बकाया है और कंपनी खराब माली हालत के कारण पैसा चुकाने की स्थिति में नहीं है। कंपनी ने एक बयान में कहा, ‘‘हम बहुत मुश्किल से कर्मचारियों का वेतन दे पा रहे हैं।
हाल ही में हमने राज्य सरकार से अनुरोध कर 113.47 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता मांगी है ताकि कंपनी बकाया चुका सके और केंद्रीय ग्रिड के साथ अपना ‘लेटर ऑफ क्रेडिट’ (उधार खाता) फिर से चालू करा सके।’’ उन्होंने यह भी कहा कि सरकार में उच्चतम स्तर पर विचार-विमर्श चल रहा है।