प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में असम राइफल्स के एक अधिकारी की 2.22 करोड़ रुपये की संपत्ति को अस्थायी रूप से कुर्क किया है। ED ने असम राइफल्स के अधिकारी राजदेव सिंह यादव (Rajdev Singh Yadav) के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (Money Laundering Act) के तहत मामला दर्ज किया है।
ED के एक अधिकारी ने कहा कि राजदेव सिंह नागालैंड के दीमापुर में 2आईसी (कमांड में दूसरी), प्रशिक्षण बटालियन, असम राइफल्स (Assam Rifles) प्रशिक्षण केंद्र के रूप में तैनात थे। ED के अधिकारी ने बताया कि कुर्क की गई संपत्ति 2.22 करोड़ रुपये की  FD के रूप में है।


इससे पहले अगस्त 2019 में CBI, ACB, शिलांग ने गहन जांच के बाद भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया था। 30 मार्च, 2021 को उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 13(2), 13(1)(ई) के साथ धारा 13(2) के तहत आरोप पत्र दायर किया गया था।

ED ने CBI की प्राथमिकी और चार्जशीट के आधार पर मनी लॉन्ड्रिंग की जांच शुरू की थी। ED को अपनी जांच में पता चला कि राजदेव सिंह यादव ने अपने बैंक खातों में बड़ी मात्रा में नकदी जमा की और बड़ी संपत्ति अर्जित की, जो उनकी आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक थी।
2012 और 2019 के बीच, उन्हें मुख्यालय, असम राइफल्स, शिलांग में स्टाफ ऑफिसर- II, स्थापना और आहरण और वितरण अधिकारी (DDO) के रूप में तैनात किया गया था। यह वह समय था जब उन्होंने बड़ी मात्रा में जमा किया था।