मेघालय पुलिस ने शुक्रवार तड़के एक वाहन से 2,000 से अधिक एल्यूमीनियम इम्प्रोवाइज्ड इलेक्ट्रिकल डेटोनेटर (IED) और 4,000 से अधिक जिलेटिन की छड़ें जब्त कीं। पुलिस के अनुसार विशेष सूचना के आधार पर असम रजिस्ट्रेशन वाले वाहन को सुबह 1 बजकर 10 मिनट पर ब्यर्निहाट पुलिस चौकी के पास रोका गया, जब वो गुवाहाटी जा रहा था। पुलिस ने एक बयान में कहा कि वाहन को शुरू में उमसिंग पर रुकने का संकेत दिया गया था, लेकिन वाहन के चालक ने तेज स्पीड से पुलिस को चकमा दे दिया।

इसके बाद पुलिस की एक टीम ने वाहन का पीछा किया और आखिर में बिरनीहाट में चालक को हिरासत में ले लिया गया। वाहन की तलाशी में पुलिस को 2,044 आईईडी और 4,027 जिलेटिन की छड़ें बरामद हुईं। पुलिस ने वाहन और विस्फोटक को जब्त कर लिया गया है और चालक को विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है। नोंगपोह पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर लिया गया है और आगे की जांच जारी है।

इससे पहले सोमवार को झारखंड के बोकारो के खरना जंगल में नक्सलियों की साजिश नाकाम करते हुए आरपीएफ और जिला पुलिस की संयुक्त टीम ने चतरो चट्टी थाना क्षेत्र के चूट्टे पंचायत स्थित खरना जंगल में सर्च ऑपरेशन के दौरान 20 से 25 किलो का आईईडी बम बरामद किया था। जिला पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि जंगल क्षेत्र में नक्सली मूवमेंट हो रहा है। इस सूचना के आधार पर सीआरपीएफ 26वीं बटालियन के सहायक कमांडेंट मुन्ना लाल और सैट के एसआई अमित कुमार सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की गई।

इस टीम की ओर से झुमरा पहाड़ की तलहटी स्थित खरना जंगल में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। इसी दौरान संदिग्ध हालत में पड़ा एक सफेद रंग का बोरा दिखा। इस बोरे की तलाशी की गई, तो आईईडी बम मिला। आशंका जताई जा रही है कि माओवादियों की ओर से पुसिल बल को नुकसान पहुंचाने के लिए आईईडी बम छुपाकर रखा गया था, लेकिन सुरक्षाबलों ने माओवादियों के मंसूबे को नापाक कर दिया।