मेघालय के शिलांग में आयोजित भारत-बांग्लादेश सीमा (India-Bangladesh border) सुरक्षा बलों की बैठक "सकारात्मक नोट" पर संपन्न हो गई है। तीन दिवसीय बैठक के दौरान चर्चा किए गए प्रमुख मुद्दे बांग्लादेश में शरण लेने वाले भारतीय विद्रोही समूहों के खिलाफ की गई कार्रवाई थी।
सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने बांग्लादेश में स्थित भारतीय विद्रोही समूहों के ठिकाने के ब्योरे वाले बॉर्डर गार्ड्स बांग्लादेश को तथ्य, आंकड़े और सूचियां प्रदान कीं है। बैठक के दौरान चर्चा किए गए एजेंडा बिंदु विद्रोहियों की आवाजाही, मानव तस्करी, ड्रग्स, नकली मुद्रा और हथियारों की तस्करी पर केंद्रित थे।
BSF ने एक बयान में कहा कि इन मुद्दों को सीमावर्ती आबादी के जीवन को सुरक्षित बनाने के लिए अधिक सहयोग, समझ और तालमेल की जरूरत है।

सुरक्षा संबंधी मुद्दों और बांग्लादेश (Bangladesh) में शरण लेने वाले भारतीय विद्रोही समूहों के खिलाफ कार्रवाई, वन उपज, ड्रग्स और नशीले पदार्थों की तस्करी जैसे सीमा पार अपराधों पर भी चर्चा की गई। BSF निहत्थे भारतीय नागरिकों पर हमलों और बांग्लादेश द्वारा अन्य भड़काऊ कार्रवाई पर जोर दिया।