कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress leader Rahul Gandhi) ने मेघालय उपचुनाव (Meghalaya by-election) से पहले पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा Former Chief Minister Mukul Sangma) और लोकसभा सांसद विंसेंट एच पाला (Lok Sabha MP Vincent H Pala) से मुलाकात की। इस दौरान हुई बैठक में मेघालय के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रभारी मनीष चतरथ संगठन के प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल भी मौजूद थे। इसके साथ ही माना जा रहा है कि पार्टी ने राज्य की तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव से पहले अपनी मेघालय इकाई में संकट को टाल दिया है।

बताया जा रहा था कि कि पिछले दिनों विन्सेंट एच पाला (Vincent H Pala) को मेघालय प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रमुख बनाए जाने के बाद उनके और पूर्व मुख्यमंत्री के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा था। यही वजह है कि संगमा (Sangma) ने ये भी कहा था कि पार्टी नेतृत्व ने पाला की नियुक्ति को लेकर उनसे मशविरा नहीं किया। इतना ही नहीं ऐसी अटकलें भी थीं कि संगमा तृणमूल कांग्रेस (TMC) में शामिल हो सकते हैं। हालांकि, दोनों नेता शनिवार को साथ आए और आगामी उपचुनावों के लिए साथ काम करने का फैसला किया।

कांग्रेस ने कहा कि राहुल गांधी (Rahul gandhi) ने मेघालय कांग्रेस अध्यक्ष विन्सेंट पाला (Vincent H Pala) और कांग्रेस विधायक दल के नेता मुकुल संगमा (Mukul sangma) से मेघालय के प्रभारी मनीष चतरथ और एआईसीसी महासचिव केसी वेणुगोपाल की मौजूदगी में अपने आवास पर मुलाकात की थी। इसके बाद उन्होंने नेताओं की एकसाथ तस्वीरें भी शेयर कीं। बता दें कि कांग्रेस ने रविवार को ट्वीट किया, 'राहुल गांधी (rahul gandhi) ने कांग्रेस मेघालय के अध्यक्ष विन्सेंट पाला, सीएलपी नेता मुकुल संगमा, प्रभारी मनीष चतरथलंग से मुलाकात की और महासचिव आई/सी संगठन के सी वेणुगोपाल से मुलाकात की।'

इससे पहले 28 सितंबर को चुनाव आयोग (Election Commission) ने देश के 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में तीन संसदीय और 30 विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव की घोषणा की थी, जिसमें मेघालय (Meghalaya) में मावरिंगकेंग (एसटी), मावफलांग (एसटी) और राजाबाला शामिल हैं।