मौसम विभाग (IMD) ने अपने पूर्वानुमान में मौसम में अचानक बदलाव के संकेत दिए हैं, जिसमें उत्‍तर भारत के ज्‍यादातर हिस्‍सों के घने कोहरे की चपेट में आने की बात कही गई है। मौसम विभाग के अनुसार, अगले 5 दिन तक उत्‍तर भारत के कई राज्‍य घने व बेहद घने कोहरे की जद में रहेंगे। अचानक कोहरा बढ़ने के चलते सड़क एवं हवाई यातायात के अलावा पावर सेक्‍टर के भी इससे प्रभावित होने की आशंका है।

मौसम विभाग की तरफ से कहा गया है कि मंगलवार को पूर्वी उत्‍तर प्रदेश और ओडिशा में बेहद शीतलहर की स्थिति बनी रहेगी, जबकि कच्‍छ क्षेत्र, तेलंगाना, पूर्वी मध्‍य प्रदेश, विदर्भ, छत्‍तीसगढ़, बिहार, पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश और गंगीय पश्चिम बंगाल में शीतलहर चलेगी। वहीं, पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश, बिहार, असम, मेघालय, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्‍ली-एनसीआर एवं पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश में घने से बेहद घना कोहरा तक की स्थिति बनेगी।

मौसम विभाग के अतिरिक्‍त महानिदेशक आनंद कुमार शर्मा ने न्‍यूज18 हिंदी को बताया कि 23 से लेकर 26 दिसंबर तक पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्‍ली में बेहद घना कोहरा रहने की संभावना है, जबकि बिहार, असम, मेघालय एवं उत्‍तर प्रदेश घने कोहरे की चादर में लिपटे रहेंगे।

मौसम विभाग के अनुसार, घने कोहरे की वजह से कई एयरपोर्ट, हाईवे और रेल रूट प्रभावित होंगे, जिससे सड़क से लेकर हवाई यातायात पर असर पड़ेगा। केवल यही नहीं, इससे फेरी सेवाओं पर भी असर पड़ने की आशंका है।

विभाग का कहना है कि घने कोहरे की वजह से दृश्‍यता स्‍तर काफी कम रहेगी, जिससे वाहन चालकों को गाड़ी चलाने में मुश्किल आएगी। साथ ही मौसम विभाग ने कहा है कि बहुत घने कोहरे के कारण कई जगहों पर विद्युत लाइनों में ट्रिपिंग की संभावना भी है, जिससे विद्युत आपूर्ति प्रभावित होने की आशंका है।