मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने इस बात के संकेत दिये हैं कि देश के अन्य हिस्सों से राज्य में बड़ी संख्या में लोगों के लौटने के कारण कोरोना वायरस (कोविड-19) के मामलों में वृद्धि हो सकती है। संगमा ने कहा कि राज्य में गंभीर रूप से स्क्रीनिंग और जांच होने के कारण अभी तक इस बीमारी का सामुदायिक ट्रांसमिशन नहीं हुआ है। 

मेघालय में अभी तक कोरोना वायरस के 27 मामले सामने आये हैं जिनमें से 12 संक्रमित स्वस्थ्य हुये हैं और एक व्यक्ति की मौत हुई है। राज्य में कोरोना वायरस के 15 संक्रमित हाल ही में तमिलनाडु, दिल्ली और हरियाणा से लौटै थे। संगमा ने सोशल मीडिया पर वीडियो संदेश में कहा, कुछ और मामले बढ़ेंगे और यह अप्रत्याशित नहीं है, लेकिन हमें चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि गंभीरता से स्क्रीनिंग और जांच की जा रही है। उन्होंने कहा, सामुदायिक ट्रांसमिशन का सवाल ही नहीं है क्योंकि सभी को कोरोना केंयर सेंटर या क्वारंटीन केंद्र में रखा जाएगा।

वहीं दूसरी तरफ त्रिपुरा की बात की जाए तो यहां कोरोना वायरस के 10 नए मामले सामने आने के साथ ही राज्य में इससे अब तक प्रभावित होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 254 हो गई है। राज्य में मौजूदा समय में इस संक्रमण के 87 सक्रिय मामले हैं। उधर राज्य सरकार ने दावा किया है कि राज्य में अगले दो दिन में जब बाहर से लोगों के आने का सिलसिला थम जाएगा, तो कोविड-19 संक्रमण की रफ्तार भी कम हो जाएगी। 

आधिकारिक रिपोर्ट के अनुसार पिछले 24 घंटे में राज्य भर में बाहर से 2500 से अधिक लोग आए हैं, जिनमें 46 कुवैत से, 106 बांग्लादेश से तथा 166 कोलकात से आए हैं। रिपोर्ट के मुताबक अभी तक 915 सैंपलों की जांच में बंगलादेश से लौटा एक व्यक्ति गुरुग्राम में कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया है, जबकि सीमा सुरक्षा बल की 86वीं बटालियन में तैनात एक जवान के परिवार का एक सदस्य इससे संक्रमित पाया गया है।