मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के कारण सबसे गंभीर रूप से प्रभावित राज्य की अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए शनिवार को 'रिस्टार्ट मेघालय मिशन' की शुरुआत की। संगमा ने यहां पोलो ग्राउंड में तिरंगा फहराने के बाद आयोजित समारोह के दौरान इस मिशन की शुरूआत की घोषणा की। 

उन्होंने कहा, 'इस मिशन में हमारे किसानों और उद्यमियों का सहयोग करने तथा बुनियादी ढांचे एवं सेवाओं को बढ़ावा देने वाले विकास का निर्माण करने के कई कार्यक्रम शामिल हैं। हम इस मिशन को 'रिस्टार्ट' इसलिए कह रहे हैं क्योंकि हम विभिन्न विकास गतिविधियों को फिर से शुरू करना चाहते हैं जो कोरोना के कारण रूक गए हैं।'

उन्होंने कहा कि मिशन राज्य की अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए लघु, मध्यम और दीर्घकालिक उपायों को लेकर मुख्यमंत्री कार्य बल की सिफारिशों पर आधारित है। कोरोना महामारी के कारण अर्थव्यवस्था सबसे बुरी तरह प्रभावित हुई है। मुख्यमंत्री ने मिशन के लिए अगले तीन वर्षों में खर्च करने के लिए 14,515 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई है जिसमें से इस वर्ष के लिए 7,839 करोड़ रुपये रखे गए हैं। 

संगमा ने इस मिशन के तहत छठे कार्यक्रमों की शुरुआत का एलान करते हुए कहा कि इसमें कृषि और उसके संबद्ध क्षेत्रों के विकास, ग्रामीण क्षेत्र में लोगों की बेहतरी और आजीविका को बढ़ावा देने, किसी भी नए लघु व्यवसाय ऋण के लिए 10,000 रुपये तक का एकमुश्त अनुदान सहायता तथा मुख्यमंत्री सहायता कार्यक्रम के तहत छोटे व्यवसायों और उद्यमियों के लिए 50,000 रुपये तक की सहायता प्रदान करना शामिल है।