मेघालय मुख्यमंत्री कोनराड संगमा (CM Conrad Sangma) ने मणिपुर के सेनापति जिले के माखेल गांव में माखेल विरासत सम्मेलन का उद्घाटन किया है। इस कार्यक्रम में कॉनराड ने कहा कि "पूर्वोत्तर के आदिवासी (Tribal Northeast) युवाओं को आरक्षण की मानसिकता से परे जाकर प्रतियोगिताओं में भाग लेना चाहिए।"

उन्होंने कहा कि उनके पिता स्वर्गीय पीए संगमा (PA Sangma) पूर्वोत्तर की राजनीति में एक दिग्गज "प्रतिस्पर्धा में विश्वास करते थे"। उन्होंने बताया कि "हमें बड़ा सोचना शुरू करना होगा। हमें आरक्षण की इस मानसिकता को पीछे छोड़कर बाकी दुनिया के साथ प्रतिस्पर्धा करने की जरूरत है "।



हालांकि, मेघालय के मुख्यमंत्री (CM Conrad Sangma) ने स्पष्ट किया कि उनका "यह मतलब नहीं है कि आरक्षण समाप्त कर दिया जाना चाहिए"। उनका मतलब यह है कि "यह मानसिकता है कि हमें बाकी दुनिया के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए बदलने की जरूरत है।"