देश में कोरोना की तीसरी लहर के कहर ने फिर से देश की रफ्तार को कमजोर कर दिया है। देश में 15 लाख से ज्यादा कोरोना केस दर्ज किए जा चुके हैं। पूर्वोत्तर राज्यों की बात की जाए तो यहां सरकार द्वारा पहले से सावधानी बरते हुए कोरोना की रफ्तार को कम किया है।

उन्होंने कोविड प्रोटोकॉल्स लागू कर दिए हैं लेकिन इन्हीं प्रोटोकॉल्स का उल्लंघन मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा (Conrad Sangma) ने कर किया जिसके कारण तृणमूल कांग्रेस ने जोरदार लताड़ लगाई है।

बता दें कि कोविड-19 (COVID-19) के मामलों में वृद्धि के बावजूद मेघालय सरकार ने एक क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया है, जिसकी तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने जमकर सरकार की कड़ी आलोचना की है। TMC ने कहा कि “महामारी के लिए सरासर अवहेलना बेहद खतरनाक है, जब मेघालय का स्वास्थ्य ढांचा चरमरा गया है ”।

TMC नेता ने कहा कि सैकड़ों लोगों को दिन-रात के खेल टूर्नामेंट में कोविड​​​​-19 प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाते देखा गया। मेघालय में अधिकतम 160 मामले दर्ज किए गए। दूसरी ओर 15-दिवसीय टूर्नामेंट (14 जनवरी से 30 जनवरी तक) के परिणाम विनाशकारी साबित होंगे। मेघालय सरकार सोच समझकर फैसला लेना चाहिए था।
टीएमसी के अनुसार, राज्य सरकार द्वारा COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए सभी प्रकार की आधिकारिक, सार्वजनिक और राजनीतिक सभाओं पर प्रतिबंध लगाने के हालिया आदेश के बावजूद, मुख्यमंत्री कोनराड संगमा (Conrad Sangma) ने एक खेल टूर्नामेंट का आयोजन किया है जो पूरे जोरों पर चल रहा है। पुलिस परेड ग्राउंड, तुरा में।

उन्होंने लताड़ लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री की यह लापरवाही पूरी तरह से 'शर्मनाक' है। और  यह पहली बार नहीं है जब मुख्यमंत्री को COVID-19 प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाते हुए देखा गया है। संगमा ने राजाबाला निर्वाचन क्षेत्र में नवनिर्वाचित नेशनल पीपुल्स पार्टी (NPP) के विधायक अब्दुस सालेह (Abdus Saleh) की उपस्थिति में एक बड़ी सभा आयोजित की गई थी।