BSF शिलांग ने दो बांग्लादेशी नागरिकों (Bangladeshi nationals) को बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) को सौंप दिया। दोनों दर्शनीय स्थलों की यात्रा के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा पर आए थे और 20 नवंबर को अनजाने में दक्षिण गारो हिल्स जिले में भारतीय क्षेत्र में प्रवेश कर गए थे। उन्हें BSF ने पकड़ लिया था।

दोनों व्यक्तियों की पहचान बांग्लादेश (Bangladesh) के चांदपुर जिले के मतलाब थाना क्षेत्र के मुख्तिर कसंडी गांव मोहर अली के पुत्र मोहम्मद अख्तर उज्जमां (43) और गांव रायपुर, धोबौरा के एमडी कलाम के पुत्र मोहम्मद अमीरुल इस्लाम (18) के रूप में हुई है।


BSF के जनसंपर्क अधिकारी ने कहा, नाबालिगों सहित लोगों द्वारा अनजाने में क्रॉसिंग के मामलों में BSF हमेशा मानवीय दृष्टिकोण अपनाती है। दोनों सीमा सुरक्षा बलों ने ऐसे विषयों पर एक समझ विकसित की है और मौजूदा संबंधों को मजबूत करने और दोनों पड़ोसी देशों के बीच आपसी विश्वास बढ़ाने के लिए इन मुद्दों को सौहार्दपूर्ण ढंग से हल किया गया है।