टोक्यो ओलंपिक खेलों 2020 में भारत को पहला पदक जिताने वाली भारोत्तोलक मीराबाई चानू रजत पदक के साथ सोमवार को टोक्यो से भारत लौट आईं हैं। दिल्ली के इंदिरा गांधी हवाई अड्डे (आईजीआई) पर पहुंचने पर भव्य स्वागत के साथ-साथ उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। 

इस दौरान लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाए। आईजीआई पर मीरा और उनके कोच विजय शर्मा का कोरोना टेस्ट भी किया गया, जिसके बाद दोनों अपने-अपने घर रवाना हुए। मीरा ने सोमवार सुबह ट्वीटर पर टोक्यो हवाई अड्डे से लौटते वक्त की एक तस्वीर भी साझा की। उन्होंने तस्वीर साझा करते हुए लिखा,  घर के लिए रवाना हो रही हूं। मेरी जिंदगी के खास यादगार लम्हों के लिए थैंक यू टोक्यो।  

उल्लेखनीय है कि महिला भारोत्तोलन स्पर्धा (49 किग्रा) में मीरा का रजत पदक टोक्यो ओलंपिक में भारत का अब तक इकलौता पदक है। वह ओलंपिक के पहले दिन पदक जीतने वाली पहली भारतीय एथलीट भी हैं। वह ओवरऑल भारोत्तोलक में पदक जीतने वाली भारत की दूसरी एथलीट बनी हैं। इससे पहले कर्णम मल्लेश्वरी ने 2000 सिडनी ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था। उल्लेखनीय है कि मणिपुर सरकार की तरफ से पहले ही मीरा को एक करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि दिए जाने की घोषणा की गई है। साथ ही उन्हें सरकारी नौकरी भी दी जाएगी।