इंफाल। मणिपुर में स्वतंत्रता दिवस से पहले सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पुलिस और 16 असम राइफल्स की एक संयुक्त टीम ने प्रतिबंधित पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सात सशस्त्र उग्रवादियों को मणिपुर के विभिन्न हिस्सों से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी। थोउबल जिले के पुलिस अधीक्षक एच जोगेशचंद्र ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि असम राइफल्स को स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान सरकारी प्रतिष्ठानों और सुरक्षा बलों को विस्फोटकों से निशाना बनाने की साजिश के बारे में शनिवार की सुबह सूचना मिली।

ये भी पढ़ेंः त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने चलाया वृक्षारोपण अभियान चलाया

उन्होंने कहा कि थोउबल जिला पुलिस और 16 असम राइफल्स की एक संयुक्त टीम याइरीपोक बाजार पहुंची और इलाके की घेराबंदी की तथा तलाशी अभियान शुरू किया। उन्होंने कहा, 'इंफाल पूर्व, इंफाल पश्चिम, काकचिंग और थोउबल जिलों में कई स्थानों पर इसी तरह के अभियान चलाए गए।' अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने सात उग्रवादियों को गिरफ्तार किया और हथियारों एवं विस्फोटकों के साथ एक नाबालिग को भी पकड़ा है।

ये भी पढ़ेंः खुशखबरीः सरकारी कॉलेजों में सभी छात्राओं को मुफ्त शिक्षा प्रदान करेगी इस राज्य की सरकार

उन्होंने कहा, 'जांच के बाद, यह पता चला कि वे घाटी के जिलों में गैर-स्थानीय लोगों को निशाना बना रहे थे, और जून और जुलाई में क्रमशः काकचिंग और एंड्रो हुइकाप में दो गैर-स्थानीय लोगों की हत्या में शामिल थे।' जोगेशचंद्र ने कहा कि नौ एमएम पिस्तौल, बेरेटा पिस्तौल, 35 कारतूस एवं हथगोले जब्त किए गए। पुलिस ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस समारोह से पहले राज्य के विभिन्न हिस्सों में अभियान जारी है और सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गई है।